Sunday, December 13, 2009

Indian Rupee Symbol

Indian Government had held a competition for designing a symbol for the Indian Currency. Showcased below was my entry sent to the government along with the concept behind designing the symbol.


Symbol design for Indian Rupee


Concept: Recognition, Adaptability, India's Culture, Elegance, Creating an impression
Visibility in the smallest form

9 comments:

Kedar Pai said...

Nice..

Anonymous said...

Very Nice

Anonymous said...

very good

Anonymous said...

Information under RTI Act, 2005
Given by Shr Sushil Kumar, Under Secretary to the Govt. of India & CPIO-----F.No. 3/40/09-Cy Dated 7th January, 2010

Que. 1 Name, Professian & Home State of all the member of jury
Ans.
(i) Smt. Usha Thorat, Deputy Governor, RBI, Mumbai-Chairman.
(ii) Shri K.V. Eapen, Joint Secretary, Deptt. of Financial Services, Ministry of Finance, New Delhi.
(iii) Ms. T. Kumar, Joint Secretary, Ministry of Culture, New Delhi.

(iv) Smt. Aditi Mehta, Joint Secretary, Indira Gandhi National Centre for Arts, New Delhi.
(v)Shri Anil Sinha, Chairperson, Integrated Desgin Services and Industry Programmes & Projects, National Institute of Design, Ahmedabad.
(vi) Professor Hemant Nagdive, Director, JJ School of Arts, Mumbai.
(vii) Shri Bazil Shaikh, Chief General Manager, RBI, Mumbai.

Que. 2-How meny desins received in hindi/English & other languages out of eligible 2644 designs.

Ans -The Designs do not have any Language, it is the shape (Drawing) only.
Que. 3-How meny meetings when , where & each date of meeting, time taken for the meeting & average time of applicant design taken reg. Totat entries of evaluation ?

Ans. Meetings of Jury were held on 29/30 September, 2009 in Indira Gandhi National Centre for Arts, New Delhi and on 16th November, 2009 in Reserve Bank of India, New Delhi for evaluation of entries. The meetings on 29th and 30th September were from 10.00AM to 5.00PM and the meeting meeting on 16th November was from 2-00 PM to 5.00PM

Que. 4- Total received deigns and total of rejects deigns?
Ans. There are 3331 eligible entries out of which five final entries were selected by the jury.
Que. 7- The script of applicant which in Hindi language be translate in other language presents before jury.
Ans. Only symbol of the applicant was presented to the Jury for selection.
Que. 10- Explain briefly the rule (hindi-MANAK) of as widely accepting across the INDIA.
Ans. The criteria adopted by the Jury in selecting the symbol was that the symbol should represent the historical and cultural ethos of the country as widely accepted across the Country and that the symbol has to be in the Indian National Language script or a visual representation. The second stage of selection focused on finer details such as whether the symbol
(i) is distinct;
(ii)can evoke a ready recall in India as well as internationally;
(iii) is not unduly cluttered, i.e. simplicity;
(iv) has strength of design;
(v) is easy to write and typecast; and
(vi) has integrity, unity of form and compact look
Que. 11-The Biodata of eligible design put-up before jury or Coding Procedure in applied?
Ans. Coding procedure was adopted.

Anonymous said...

I just found the website who reviews about
many
home based business opportunity

If you want to know more here it is
home business opportunity
www.home-businessreviews.com

Anonymous said...

जय हिंद,
श्री सुशील कुमार, अवर सचिव भारत सरकार एवम सी.पी.आई.ओ. ने आर0टी0आई0 एक्ट २००५ के उन्तर्गत लेटर संख्या यफ.स. ३/४०/२००९-करेंसी दिनाक ०८ फरवरी, २०१० द्वारा निम्नानुसार सूचना दी गयी :-
प्रश्न १- फ़ाइनल ५ के प्रत्येक अभ्यर्थियों का जूरी के सम्मुख प्रजेंटेसन किन- किन तिथियो मे कहाँ-कहाँ हुआ तथा प्रत्येक अभ्यर्थी/टीम ग्रुप द्वारा अपने-अपने सिम्बल को प्रजेंट करने मे कितना-कितना समय का उपयोग किया गया.
उत्तर- फ़ाइनल ५ के अभ्यर्थियों का प्रजेंटेसन १५-12-२००९ को जूरी के सम्मुख हुआ. प्रत्येक अभ्यर्थी को प्रजेंटेसन के लिए (मोखिक रूप से) १०-१० मिनट का समय दिया गया है.
प्रश्न २- क्या प्रत्येक प्रजेंटेसन की वीडियोग्राफी करायी गयी.
उत्तर- नहीं.
प्रश्न 3- जूरी के सम्मुख कुल ३३३१ डिजाइनो को प्रस्तुत की गयी किन्तु मंत्रालय के वेबसाईट मे २६४४ के लिस्ट प्रकाशित की गयी. इसका क्या कारण है.
उत्तर- वेबसाईट मे केवल सभी शर्ते पूर्ण करने वाली प्राविस्थिया भेजने वाले अभ्यर्थियों के नाम दिए गए है. किसी-किसी अभ्यर्थी ने दो-दो डिजाइन भी दिए थे.
प्रश्न 4- जिन अभ्यर्थियों की डिजाइन अपूर्ण थी क्या उनको कतिपय सुधार हेतु सूचित किया गया. एसे अभ्यर्थियों की संख्या.
उत्तर- डिजाइन को पूर्ण करने के लिए या सुधार करने के लिए किसी को नहीं कहा गया.
प्रश्न 5- कितने डिजाइनर के मूल डिजाइन (बायोडाटा, स्क्रिप्ट व डिमांड ड्राफ्ट) उनको वापस किया गया तथा कितने ऐसे डिजाइनर है जिन्होंने त्रुटि को सुधार कर मंत्रालय को भेजा.
उत्तर- मूल डिजाइन (बायोडाटा, स्क्रिप्ट व डिमांड ड्राफ्ट सहित) जो कि निर्धारित अवधि मे प्राप्त हो गए थे, वापिस नहीं भेजे.
प्रश्न ६- क्या फ़ाइनल ५ के अभ्यर्थियों मे से किसी ने दो डिजाइन से अधिक डिजाइन प्रेषित की थी.
उत्तर- नहीं.
प्रश्न 7- वित्त मंत्रालय की वेबसाईट पर तीन किश्तों मे प्रकाशित २६४४ डिजाइनो के अतिरिक्त ६८७ डिजाइनो के सूची क्यों नहीं प्रकाशित की गयी.
उत्तर- २६४४ डिजाइन नहीं है, वह तो अभ्यर्थियों के नाम है.
प्रश्न ८- कुल अर्ह ३३३१ डिजाइनो के स्क्रिप्ट किन-किन भाषाओ मे प्राप्त हुई तथा उनकी भाषावार संख्या.
उत्तर- डिजाइन की कोई भाषा नहीं होती. स्क्रिप्ट हिंदी. अंगरेजी, तेलगू, मलयालम आदि भाषाओ मे प्राप्त हुई.
प्रश्न 9- शासनादेश/गाइडलाइन मे उल्लिखित “इंडियन नॅशनल लान्ग्वेग” उन्तर्गत वित्त मंत्रालय की नजर मे कौन-कौन सी भाषाए है.
उत्तर- संविधान द्वारा मान्यता प्राप्त सभी भाषाए.
प्रश्न 10- भारतीय रूपये के सिम्बल हेतु क्या पूर्व मे किसी भारतीय या विदेशी नागरिक का प्रस्ताव, प्रार्थानपत्र या सुझाव आदि किसी स्तर से प्राप्त हुआ. यदि हाँ तो उसका विवरण.
उत्तर- श्रीमती नॉनदिता कोरिया, भारतीय नागरिक से सुझाव प्राप्त हुआ था.
प्रश्न 11- भारतीय रूपये के सिम्बल की आवश्यकता के पीछे मूल कारण की सूचना.
उत्तर- इस विभाग के विज्ञापन मे उल्लेख किया गया है.
प्रश्न १२- प्रत्येक डिजाइन के प्रजेंटेसन हेतु कितना समय निर्धारित किया गया था.
उत्तर- दस मिनट तथा जूरी द्वारा उठाए गए प्रश्नों के उत्तर का समय.
प्रश्न 13- जूरी ने केवल पाँच सिम्बल चयनित किये या उससे अधिक भी.
उत्तर- विज्ञापन के अनुसार जूरी को केवल पाँच प्रतीकों का चयन करना था.
प्रश्न १४- गाइडलाइन मे उल्लिखित “स्टैंडर्ड की बोर्ड” से क्या आशय है
उत्तर- computero मे लगा सामान्य की बोर्ड.
प्रश्न १५- अंतिम डिजाइन के चयन के पश्चात क्या शेष समस्त डिजाइनो का स्क्रिप्ट सहित प्रकाशन वेब साईट पर किया जायेगा.
उत्तर- नहीं.
प्रश्न 16- जूरी द्वारा पाँच प्रतिभागियों के चयन की संस्तुति किस तिथि को प्रेषित की गयी तथा वित्त मंत्रालय को किस तिथि को प्राप्त हुई.
उत्तर- १५-१२-२००९ को.
प्रश्न १७- क्या जूरी ने पाँच प्रतिभागियों मे से फायनल एक की भी संस्तुति की है.
उत्तर- अंतिम निर्णय विचाराधीन है.
प्रश्न १८- कुल अर्ह ३३३१ अभ्यर्थियों द्वारा डिमांड ड्राफ्ट द्वारा प्रेषित रुपया कितना है.
उत्तर- २६४४ योग्य अभ्यर्थियों के द्वारा भेजे गए ५००-५०० रुपए के डिमांड ड्राफ्ट जमा किये गए.
mb. 09450456464

Anonymous said...

This one is the best ive seen so far. Good luck.
im guessing its not Unicode though? is it?

Anonymous said...

wow! I saw that the final winner is VERY CLOSE to your design. I think you should get a complimentary award. do let us know what happened.

the only difference is the slope of the lines.

UTK said...

It looks exactly like the winning entry!